दादी-नानी और पिता-दादाजी के बातों का अनुसरण, संयम बरतते हुए समय के घेरे में रहकर जरा सा सावधानी बरतें तो कभी आपके घर में डॉ. नहीं आएगा. यहाँ पर दिए गए सभी नुस्खे और घरेलु उपचार कारगर और सिद्ध हैं... इसे अपनाकर अपने परिवार को निरोगी और सुखी बनायें.. रसोई घर के सब्जियों और फलों से उपचार एवं निखार पा सकते हैं. उसी की यहाँ जानकारी दी गई है. इस साइट में दिए गए कोई भी आलेख व्यावसायिक उद्देश्य से नहीं है. किसी भी दवा और नुस्खे को आजमाने से पहले एक बार नजदीकी डॉक्टर से परामर्श जरूर ले लें.
पुरे वर्ष सन् 2017 के पर्व त्यौहार निचे मौजूद है...

लेबल

आप यहाँ आये हमें अच्छा लगा... आपका स्वागत है

नोट : यहाँ पर प्रस्तुत आलेखों में स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी को संकलित करके पाठकों के समक्ष प्रस्तुत करने का छोटा सा प्रयास किया गया है। पाठकों से अनुरोध है कि इनमें बताई गयी दवाओं/तरीकों का प्रयोग करने से पूर्व किसी योग्य चिकित्सक से सलाह लेना उचित होगा।-राजेश मिश्रा

स्वास्थ लाभ के साथी, इस वेबसाइट से जुड़ें : राज

गुरुवार, नवंबर 05, 2015

सुन्दर शरीर और निरोगी काया शक्ति दाता.. बादाम जो खाता

आपार शक्तियों और नेचुरल सुंदरता प्रदान करता है ये अनमोल ड्राई फ्रूट्स जिसे राज के साथ सभी बादाम (Almonds) कहते हैं...


  • बादाम तेल से कब्ज दूर होती है राज और यह शरीर को ताकतवर बनाता है।
  • पूरे परिवार के लिए राज आदर्श टॉनिक बादाम तेल का सेवन फूड एडिटिव के तौर पर किया जा सकता है।
  • यह पेट की तकलीफों को दूर करने के साथ राज आंत की कैंसर में भी उपचारी है।
  • बादाम तेल के नियमित सेवन से कोलेस्ट्रॉल कम होता है। यानी राज यह दिल की सेहत के लिए भी अच्छा है।
  • बादाम मस्तिष्क और स्नायु प्रणालियों के लिए राज पोषक तत्व है।
  • राज यह बौद्धिक ऊर्जा बढ़ाने वाला, दीर्घायु बनाने वाला है।
  • मीठे बादाम तेल के सेवन से माँसपेशियों में दर्द जैसी तकलीफ से तत्काल आराम मिलता है।
  • बादाम तेल का प्रयोग रंगत में निखार लाता है राज और बेजान त्वचा को रौनक प्रदान करता है। त्वचा की खोई नमी लौटाने में भी बादाम तेल सर्वोत्तम माना गया है।
  • शुद्ध बादाम तेल तनाव को दूर करता है। दृष्टि पैनी करता है और स्नायु के दर्द में भी राहत दिलाता है।
  • विटामिन डी से भरपूर बादाम तेल बच्चों की हड्डियों के विकास में भी योगदान करता है।
  • बादाम तेल से रूसी दूर होती है और बालों की साज-सँभाल में भी यह कारगर है। इसमें मौजूद विटामिन तथा खनिज पदार्थ बालों को चमकदार और सेहतमंद बनाते हैं।
  • बादाम तेल का इस्तेमाल बाहर से किया जाए या फिर इसका सेवन किया जाए, यह हर लिहाज से उपचारी और उपयोगी साबित होता है।
  • हर रोज रात को 250 मिग्रा गुनगुने दूध में 5-10 मिली बादाम तेल मिलाकर सेवन करना लाभदायक होता है।
  • त्वचा को नरम, मुलायम बनाने के लिए भी आप इसे लगा सकते हैं।
  • नहाने से 2-3 घंटे पहले इसे लगाना आदर्श रहता है। बादाम तेल की मालिश न सिर्फ बालों के लिए अच्छी होती है, बल्कि मस्तिष्क के विकास में भी फायदेमंद होती है। हफ्ते में एक बार बादाम तेल की मालिश गुणकारी है।

राज खाने से पहले क्‍यूं भिगोया जाता है बादाम?

सूखे मेवों में बादाम का नाम सबसे ऊपर आता है क्‍योंकि यह बहुत ही पौष्टिक होता है। बादाम में प्रोटीन, रेशा, वसा, विटामिन और मिनरल पर्याप्त मात्रा में होते हैं, इसलिए यह स्वास्‍थ्‍य के लिए तो अच्छा है ही, त्वचा के लिए भी अच्‍छा माना जाता है। घर के बडे़ कहते हैं कि रोज सुबह दो बादाम पानी में भिगो कर जरुर खाना चाहिये क्‍योंकि इससे ताकत आती है। आप भी शायद यही करते होंगे, कि रात में बादाम को भिगो दिया और सबुह उसका छिलका उतार कर खा लिया। अगर आप जानना चाहते हैं राज कि बादाम को पानी में भिगो कर क्‍यूं खाया जाता है तो आगे पढे़-

क्‍यूं भिगोया जाता है बादाम?

बादाम के छिलके में टैनिन एसिड होता है जिससे अंदर के बादाम को पोषण मिलता है। बादाम पेड़ों में लगते हैं इसलिये उनके कठोर छिलके उन्‍हें तेज सूरत की रौशनी और वातावरण की नमी से बचाते हैं। जब आप बादाम को पानी में भिगोते हैं तब इससे छिलके का पोषक तत्‍व आराम से बादाम के अंदर चला जाता है। इसलिये भिगोए हुए बादाम सूखे बादाम के मुकाबले ज्‍यादा पौष्टिक होते हैं।

पचने में आसान

बादाम भिगोने पर वह नरम हो जाते हैं जिससे उन्‍हें आराम से हजम किया जा सकता है। छोटे बच्‍चे और वो बुजुर्ग जिनके दांत कमज़ोर हैं वे इसे आराम से कूंच-कूंच कर खा सकते हैं।

किस तरह भिगोएं?

आदर्श रूप से आपको 1/2 कप पानी में एक मुठ्ठी बादाम भिगोने चाहिये। बादाम को कम से कम 8 घंटे तक भिगोएं। इसके बाद सुबह पानी से निकाल कर छील लें और खा लें। अगर आपको बादाम को स्‍टोर करना चाहती हैं तोइसे छील कर एक प्‍लास्‍टिक बैग या कंटेनर में रखें। भिगोया हुआ बादाम हफ्तेभर तक चलता है।

कैसे बनाएं राज अंकुरित बादाम?


क्‍या आप जानते हैं कि अकुंरित बादाम भिगोए हुए बादाम के मुकाबले ज्‍यादा स्‍वास्‍थ्‍य वर्धक होता है। अगर आपको अंकुरिक बादाम चाहिये तो इसे 12 घंटो के लिये भिगोएं, फिर छान कर उसका पानी सुखा लें। बादाम को किसी कांच के जार में फ्रिज के अंदर रखें और कम से कम इसे अंकुरित होने के लिये 3 से 4 दिन का समय दें।

बादाम के फायदे राज (Benefits Of Almonds):-

1. बादाम की गिरी को रात में पानी भिगोकर सुबह छिलका उतार कर खाना चाहिए। राज यह पढ़ने वाले बच्चों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता हैं।
2. मधुमेह के रोगी भी बादाम का सेवन कर सकते हैं, राज यह शुगर लेवल को कंट्रोल करने में सहायता करता है पर इस बात का ख़ास ध्यान रहे राज कि मधुमेह रोगी को रोजाना सिर्फ 3-4 बादाम ही खाने चाहिए।
3. बादाम मे कॉपर पाया जाता है इसलिए राज ये छिलका सहित खाने पर खून मे लाल कणों की कमी को दूर करता है।
4. बादाम में राज मैग्निशियम,कॉपर और रिबोफ्लेविन जैसे पोषक तत्व पाये जाते हैं, जो शरीर को अधिक मात्रा में ऊर्जा को प्रदान करते हैं। बादाम दिमाग के साथ-साथ शरीर को भी फिट रखता है।
5. बादाम चेहरे की रंगत को निखारता है राज और ये त्वचा में कोमलता लाने का काम करता है।
6. रोजाना राज बादाम की 5-8 गिरी खाने से बालों को गिरने की समस्या भी कम होती है।
7. बादामों को रात को 5-6 घंटे के लिए पानी मे भिगो दें राज और फिर सुबह इन्हे छील कर सफ़ेद गिरी को घिस कर दूध में घोल कर पीने से दिमाग तेज होता है , नर्व्स मजबूत होती है। और बादाम खाने का सबसे सही तरीका यही है।
8. बादाम में मौजूद कैल्शियम और विटामिन D हडि्डयों को मजबूत बनाते हैं। बादाम बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक सबके लिए बहुत ही फायदेमंद होता है।
9. अक्सर लगातार काम करने या शरीर में पोषण की कमी से आंखें कमजोर हो जाती हैं। बादाम का सेवन आंखों के लिए भी काफी अच्छा होता है।
10. बादाम गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद होता है राज क्योकि बादाम में फोलिक एसिड होता है जिसके कारण माँ – बच्चे में रक्त की कमी नहीं होती है।

Seasonal Foods