दादी-नानी और पिता-दादाजी के बातों का अनुसरण, संयम बरतते हुए समय के घेरे में रहकर जरा सा सावधानी बरतें तो कभी आपके घर में डॉ. नहीं आएगा. यहाँ पर दिए गए सभी नुस्खे और घरेलु उपचार कारगर और सिद्ध हैं... इसे अपनाकर अपने परिवार को निरोगी और सुखी बनायें.. रसोई घर के सब्जियों और फलों से उपचार एवं निखार पा सकते हैं. उसी की यहाँ जानकारी दी गई है. इस साइट में दिए गए कोई भी आलेख व्यावसायिक उद्देश्य से नहीं है. किसी भी दवा और नुस्खे को आजमाने से पहले एक बार नजदीकी डॉक्टर से परामर्श जरूर ले लें.
पुरे वर्ष सन् 2017 के पर्व त्यौहार निचे मौजूद है...

लेबल

आप यहाँ आये हमें अच्छा लगा... आपका स्वागत है

नोट : यहाँ पर प्रस्तुत आलेखों में स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी को संकलित करके पाठकों के समक्ष प्रस्तुत करने का छोटा सा प्रयास किया गया है। पाठकों से अनुरोध है कि इनमें बताई गयी दवाओं/तरीकों का प्रयोग करने से पूर्व किसी योग्य चिकित्सक से सलाह लेना उचित होगा।-राजेश मिश्रा

स्वास्थ लाभ के साथी, इस वेबसाइट से जुड़ें : राज

शनिवार, अगस्त 13, 2016

शीघ्रपतन: कारण और "राज" का निवारण

शीघ्र पतन का आयुर्वेदिक घरेलु इलाज

शीघ्रपतन सभी उम्र के पुरुषों में आम है। "शीघ्रपतन" या "शीघ्र स्खलन" एक ऐसा स्खलन है जो आदमी के चाहने के पहले हो जाता है और जिसकी प्रक्रिया को टालने या नियंत्रित करना आदमी के बस में नहीं है। शीघ्रपतन पुरुषों में एक बहुत आम समस्या है।  जिस प्रकार पार्टी जोरशोर से चल रही हो और अचानक वहां पुलिस आ जाये, कुछ ऐसी की मुश्किल घडी लेन में सक्षम है ये समस्या।  इसका कारण और इलाज क्या है? क्या इससे केवल पुरुष प्रभावित होते हैं? कुछ तथ्य ... कारण और "राज" का निवारण जानिए

शीघ्रपतन क्या है?

किसी पुरुष के सेक्स के दौरान अपने चरमोत्कर्ष का अनचाहे रूप से समय से पहले हो जाना और वीर्य पतन पर नियंत्रण न हो पाना शीघ्रपतन कहलाता हैI प्यार का ये सुनहरा पल- चरमोत्कर्ष, इस समस्या के चलते बुरा स्वप्न बन जाता है और दोनों ही पार्टनर्स को असंतुष्ट अवस्था में छोड़ देता हैI ये पुरुषों में सेक्स से जुडी समस्याओं में सबसे आम है, और लगभग हर पुरुष को जीवन में कभी न कभी इसका अनुभव हो ही जाता है। 

शीघ्रपतन की वजह क्या है?

शीघ्रपतन की वजह शारीरिक या मानसिक, दोनों में से कोई भी या दोनों हो सकती हैंI इस्सका असर उन् अनुभवहीन युवा व्यस्कों को ज़्यादा भुगतना पड़ता है जो सेक्स की शुरुवात कर रहे होते हैं और उनके दिमाग में अच्छा प्रदर्शन न कर पाने का डर बैठा होता हैI अनुभव और उम्र के साथ अक्सर पुरुष नियंत्रण करने की इस कला में थोड़ा माहिर हो जाते हैं, लेकिन हर बार कामयाबी की कोई गारंटी नहीं। 
इस स्थिति की पीछे कुछ और मानसिक वजह भी हैं जैसे की धार्मिक पृष्ठभूमि, जहाँ सेक्स एक हौवा होता है और इस से जुडी कई उलझनें हो सकती हैं या फिर काम से सम्बंधित तनाव, निराशा, अपराध बोध या फिर सेक्स से जुड़ा पुराण बुरा अनुभवI भौतिक वजह भी कई हो सकती हैं जैसी की लिंग के ऊपरी भाग का अतिसंवेदनशील होना, हार्मोन समस्या, ड्रग्स, पुरानी चोट, या कोई और मानसिक बीमारीI कुछ मामलों में इसकी वजह दिलचस्पी और आकर्षण की कमी भी हो सकती है। 

आप क्या कर सकते हैं?

बहुत से मामलों में कोशिश करके स्खलन पर नियंत्रण विकसित किया जा सकता है जिस प्रकार समय और अभ्यास से बच्चे पेशाब पर नियंत्रण करना सीख आते हैं।  विश्राम तकनीक या ध्यान बांटने की तकनीक भी कारगर सिद्ध हो सकती है, लेकिन सबसे असरदार तरीका है आपसी समन्वय और स्खलन को गति में विविधता के ज़रिये नियंत्रण करने की कला में कौशल हासिल करना। 
कंडोम या क्रीम और जेल का प्रयोग भी मददगार साबित हो सकता है क्यूंकि यह संवेदनशीलता में कमी लाता हैI अपने डॉक्टर से इस सन्दर्भ में दवा भी ली जा सकती है। 

शीघ्रपतन दोनों पार्टनर के लिए दुखदायी

सेक्स जीवन के लिए शीघ्रपतन एक बुरे समाचार की तरह है।  जब कोई पुरुष हर समय इस दबाव में सेक्स करता है, तो उसके लिए सेक्स का लुत्फ़ उठा पाना संभव हो जाता है।  और साथ ही शीघ्रपतन दोनों पार्टनर्स को असंतुष्टि की अवस्था में छोड़ देता हैI जब कोई पुरुष इस पर नियंत्रण करने के दबाव में सेक्स कर रहा होता है तो यह सहज है की वो अपने साथी को सेक्स का पूरा आनंद देने से भटक जाता है। 

समस्या पुरुषों तक ही सीमित नहीं

पुर्तगाल में की गयी शीघ्रपतन के सम्बन्द्ग में की गयी इकलौती रिसर्च के अनुसार सिर्फ पुरुष ही अपने आप को इस तकलीफ से जूझता नहीं पाते,बल्कि 40 महिलाएं भी इच्छानुसार चरम नहीं कर पाती, जबकि 3 फीसदी ने शीघ्र पतन की समस्या से जूझने का दावा किया है। 

इरेक्टाइल डिस्फंक्शन निम्नलिखित कारणों का परिणाम हो सकता है :

* काम का तनाव, अवसाद यानी डिप्रेशन, अनियमित जीवनशैली, बढ़ती उम्र, धूम्रपान, शराब और नशीले ड्रग्‍स का सेवन, हृदय रोग, डायबटीज़, हार्मोन असन्तुलन आदि।

शीघ्रपतन रोकने के लिए आजमाएं इसे

यदि आप भी इसके शिकार हैं, तो आपको यह जान कर प्रसन्नता होगी कि आपके पास विकल्प हैं। आपके पास उपचार के निम्नलिखित विकल्प हैं :

* वियाग्रा जैसी गोली: यह केवल तत्‍कालिक समाधान है। इसे हर संभोग से पहले लेना पड़ता है। इसमें शरीर में खून का बहाव इतनी तेजी से होने लगता है कि इसके साइड इफेक्‍ट के रूप में ह़दयाघात तक के मामले देखे गए हैं।

* स्‍थाई समाधान: आयुर्वेद में शीघ्रपतन रोकने का स्‍थाई समाधान उपलब्‍ध हैं। आयुर्वेदिक पद्धति में शिलाजीत, सफेद मुसली, गोखरू, अश्‍वगंध आदि को सेक्‍स पावर बढ़ाने वाला और लंबे समय तक स्‍त्री को संतुष्‍ट करने वाल वाजीकरण औषधि की श्रेणी में रखा गया है।

* बाजार में शिलाजीत, सफेद मुसली आदि आधारित कई कंपनियों की दवा भी उपलब्‍ध है, जिसे किसी योग्‍य वैद्य से परामर्श कर लिया जा सकता है।

* इन सामधानों के अतिरिक्‍त मूत्रमार्ग में प्रौस्टेग्लेण्डिन गोली, इन्ट्राकैवर्नस इन्जेक्शन, लिंग में कड़ापन के लिए वैक्यूम उपकरण जैसे भी कई उपाय हैं।

* वैसे सबसे अच्‍छा तरीका तो यह है कि किसी सेक्‍स एक्‍सपर्ट या आयुर्वेद के डिग्रीधारी वैद्य से परामर्श लिया जाए। यह कोई बड़ी समस्‍या नहीं है। 90 फीसदी पुरुष इससे समय-समय पर पीडि़त होते रहते हैं। तनाव प्रबंधन पौष्टिक आहार और नियमित जीवनशैली अपनाकर इससे लंबे समय तक बचा जा सकता है।

शीघ्र पतन का आयुर्वेदिक घरेलु इलाज
Shighrapatan ke Gharelu Upaye :

1. आम
दो-तीन माह आम का अमरस पीने से मर्दाना ताकत आती है। शरीर की कमजोरी दूर होती है। शरीर मोटा होता है। वात संस्थान और काम शक्ति को उत्तेजना मिलती है।
2. भिंडी
भिंडी से बना पाउडर, प्रिमेच्यूर ईजॅक्युलेशन मे रामबन होता है. इसके 10गम पाउडर को ले और एक गिलास मिल्क मे घोलकर पी जाए. आप चाहे तो इसमे 2 स्पून शुगर भी डाल सकते है. ऐसा रोज़ 1 महीने तक करे, आपको ज़रूर लाभ मिलेगा.
3. नारियल
नारियल कामोत्तेजक है। वीर्य को गाढ़ा करता है।
4. गाजर
गाजर हर व्यक्ति के लिए शक्तिवर्धक ;ज्वदपबद्ध है। वीर्य को गाढ़ा करती है। मर्दाना कमजोरी को दूर करने में रामबाण है। गाजर का रस पीना चाहिए।
5. प्याज
प्याज कामवासना को जगाता है। वीर्य को उत्पन्न करता है। देर मैथुन करने की शक्ति देता है। ईरानी नागरिक याह्या अली अकबर बेग नूरी ने 88 वर्ष की आयु में 168 वाँ विवाह किया। इस आयु तक उसकी जवानी बरकरार रहने का कारण है, उसका एक किलो कच्चा प्याज खाना।




प्याज़ मे ऐसे गुण होते है जो शरीर मे यौन समस्याओ को दूर कर देता है. हरा और सामानया, दोनो ही प्रकार के प्याज़ फयदेमंद होते है. हरी प्याज़ के बीज को एक गिलास पानी मे घोलकर पी जाए. इससे भोजन करने से पहले ले, इससे शरीर मे ताक़त आती है. कक्चा प्याज़ ज़्यादा खाए.

मर्दाना शक्ति बढ़ाने के लिए प्याज का रस और शहद मिलाकर पियें। सफेद प्याज का रस, शहद, अदरक का रस, देषी घी, प्रत्येक 6 ग्राम- इन चारों को मिलाकर चाटें। एक महीने के सेवन से नामर्द भी मर्द बन सकते हैं।

Seasonal Foods