दादी-नानी और पिता-दादाजी के बातों का अनुसरण, संयम बरतते हुए समय के घेरे में रहकर जरा सा सावधानी बरतें तो कभी आपके घर में डॉ. नहीं आएगा. यहाँ पर दिए गए सभी नुस्खे और घरेलु उपचार कारगर और सिद्ध हैं... इसे अपनाकर अपने परिवार को निरोगी और सुखी बनायें.. रसोई घर के सब्जियों और फलों से उपचार एवं निखार पा सकते हैं. उसी की यहाँ जानकारी दी गई है. इस साइट में दिए गए कोई भी आलेख व्यावसायिक उद्देश्य से नहीं है. किसी भी दवा और नुस्खे को आजमाने से पहले एक बार नजदीकी डॉक्टर से परामर्श जरूर ले लें.
पुरे वर्ष सन् 2017 के पर्व त्यौहार निचे मौजूद है...

लेबल

आप यहाँ आये हमें अच्छा लगा... आपका स्वागत है

नोट : यहाँ पर प्रस्तुत आलेखों में स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी को संकलित करके पाठकों के समक्ष प्रस्तुत करने का छोटा सा प्रयास किया गया है। पाठकों से अनुरोध है कि इनमें बताई गयी दवाओं/तरीकों का प्रयोग करने से पूर्व किसी योग्य चिकित्सक से सलाह लेना उचित होगा।-राजेश मिश्रा

स्वास्थ लाभ के साथी, इस वेबसाइट से जुड़ें : राज

मंगलवार, दिसंबर 15, 2015

मालिश करें ,स्वस्थ रहें

सर्दी के मौसम में त्वचा की देखभाल

सर्दियों में त्वचा की मुख्या समस्या है रूखापन जो वात बढ़ने से होता है. इसके लिए तेल से मालिश सबसे उत्तम उपाय है. सर्दियों में तेल मालिश करने का बड़ा महत्त्व है .तेल घर पर बनायें और दिन में एक बार मालिश करने से अनेकानेक विकार (विशेषकर वातविकार ) निकल जातें है .

तेल बनाने की विधि है

तिल का तेल पाँच सौ ग्राम में 50 ग्राम अदरक , 50 ग्राम लहशुन, 50 ग्राम अजवायन पका लें .कपडे से छान कर बोतल में रखे.

इस तेल से मालिश करें ,स्वस्थ रहें.

  • साबुन की बजाय उबटन का प्रयोग करें . 
  • सरसों का तेल मालिश करने पर शरीर के रक्त संचार को बढ़ाता है। थकान दूर करता है। सर्दियों में इस तेल की मालिश लाभदायक है। 
  • सरसों के तेल को पैर के तलुओं में मालिश से थकान तुरंत मिटती है तथा नेत्रज्योति बढ़ती है। 
  • चर्म रोग पर सरसों का तेल, आक का तेल, हल्दी डाल कर गर्म करें। ठंडा हो जाने पर लगायें। 
  • सरसों का तेल नियमित रूप से बालों पर लगाते रहने से बाल समय से पहले सफेद नहीं होते। 
  • बच्चों या बड़ों को जुकाम हो जाये, तो तेल में लहसुन पका कर तेल वापस थोड़ा ठंडा होने पर सीने पर मालिश करें। सर्दी-जुकाम ठीक हो जाता है।
  • राई का तेल निमोनिया रोग से बचाव करता है। इस तेल की हल्की-हल्की मालिश कर के गुनगुनी धूप लें। इस तरह नियमित रूप से करने पर निमोनिया में फायदा होता है।
  • आंवले के तेल में विटामिन सी और आयरन होता है, जो बालों के लिए पोषक है। बालों के लिए आंवले का तेल बहुत अच्छा है.
  • एरंड का तेल लगाने से त्वचा का रंग साफ होता है।
  • अलसी के तेल में में विटामिन ई होता है।
  • सर्दी के मौसम में जैतून के तेल से शरीर की मालिश करें, तो ठंड का एहसास नहीं होता। इससे चेहरे की मालिश भी कर सकते हैं। चेहरे की सुंदरता एवं कोमलता बनाये रखेगा। यह सूखी त्वचा के लिए उपयोगी है।
  • सरसो के तेल में विटामिन ई भरपूर मात्रा में होता है जिस वजह से इससे मालिश त्वचा और बालों के लिए बहुत फायदेमंद है। इसके अलावा, यह त्वचा को अल्ट्रावॉयलेट किरणों से भी बचाता है, यह एक नैचुरल सनब्लॉक है।
  • ना ही बहुत अधिक गर्म पानी ना ही अधिक ठन्डे पानी से स्नान करें. 
  • नहाने के बाद तौलिये से त्वचा पोछ कर तुरंत थोड़ा ग्लिसरीन और थोड़ा एलो वेरा जेल मिला कर लगाए . यह नमी दिन भर त्वचा में रहेगी और ज़रा भी रूखापन नहीं आयेगा.

Seasonal Foods