दादी-नानी और पिता-दादाजी के बातों का अनुसरण, संयम बरतते हुए समय के घेरे में रहकर जरा सा सावधानी बरतें तो कभी आपके घर में डॉ. नहीं आएगा. यहाँ पर दिए गए सभी नुस्खे और घरेलु उपचार कारगर और सिद्ध हैं... इसे अपनाकर अपने परिवार को निरोगी और सुखी बनायें.. रसोई घर के सब्जियों और फलों से उपचार एवं निखार पा सकते हैं. उसी की यहाँ जानकारी दी गई है. इस साइट में दिए गए कोई भी आलेख व्यावसायिक उद्देश्य से नहीं है. किसी भी दवा और नुस्खे को आजमाने से पहले एक बार नजदीकी डॉक्टर से परामर्श जरूर ले लें.
पुरे वर्ष सन् 2017 के पर्व त्यौहार निचे मौजूद है...

लेबल

आप यहाँ आये हमें अच्छा लगा... आपका स्वागत है

नोट : यहाँ पर प्रस्तुत आलेखों में स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी को संकलित करके पाठकों के समक्ष प्रस्तुत करने का छोटा सा प्रयास किया गया है। पाठकों से अनुरोध है कि इनमें बताई गयी दवाओं/तरीकों का प्रयोग करने से पूर्व किसी योग्य चिकित्सक से सलाह लेना उचित होगा।-राजेश मिश्रा

स्वास्थ लाभ के साथी, इस वेबसाइट से जुड़ें : राज

शनिवार, अप्रैल 11, 2015

राजेश मिश्रा की बेहतरीन 66 कुकिंग टिप्स

रसोई शास्त्र में भारतीय भोजन कला एवं संस्कृति की झलक
कुकिंग टिप्स, रसोई टिप्स, रसोई शास्त्र , किचन टिप्स, Cooking tips, Kitchen Tips, Rasoi Tips, घर और रसोई, रसोई घर से

  1. माइक्रोवेव- माइक्रोवेव में एक कटोरे में दो कप पानी भरें और उसमें एक चम्मच नींबू का रस डालें। अब माइक्रोवेव को पांच मिनट तक के लिए चला कर छोड़ दें। जब वह रुक जाए तब उसके भीतर को एक पेपर टॉवल लें कर साफ करें। इससे माइक्रोवेव भी साफ हो जाएगा और उसमें से अच्छी महक भी आने लगेगी।
  2. सिंक- सिंक से चिपचिपे ग्रीस को हटाने के लिए उसमें से कई बार गरम पानी का बहाव करना पड़ेगा। इसके बाद एक कप सफेद सिरका डालें और बेसिन को थोड़े से बेकिंग पाउडर सोडे से साफ करें।
  3. फ्रिज- अगर आपको फ्रिज के भीतर सफाई करनी है, तो गरम पानी और बेकिंग सोडा का प्रयोग करें। इसके बाद फ्रिजर को भी साफ करें।
  4. किचन कैबिनेट- कैबिनेट को साफ करने के लिए ल्किविड सोप और सफेद सिरका लें और पोंछे। जब अच्छे से पोंछ लें तब एक साफ कपड़ा लें और उसे गरम पानी में डुबो कर बचा हुआ साबुन का घोल कैबिनेट के अंदर से साफ करें।
  5. किचन की जमीन- अगर जमीन पर कोई चिपचिपी चीज गिर गई हो, तो उस पर ब्लीच डाल दें और फिर उसे ब्रश से रगड़े। जमीन को चमकदार बनाने के लिए एक कप सिरके में गरम पानी डाल कर सफाई करिये।
  6. यदि आप डेजर्ट बना रहे हों तो भारी तले का बर्तन इस्तेमाल करें। इससे बर्तन जलेगा नहीं और डेजर्ट का स्वाद भी बढ़ेगा।
  7. यदि आप डेजर्ट का क्रीमी टेक्चर चाहती हैं तो फुल क्रीम दूध का इस्तेमाल करें।
  8. पतीले में थोड़ा पानी डालें इसके बाद दूध उबालें। इससे बर्तन की तली में दूध नहीं चिपकेगा।
  9. किशमिश को एयरटाइट डिब्बे में बंद कर उसे रेफ्रीजरेट करने वे ज्यादा दिनों तक फ्रेश रहेंगे। जब इन्हें इस्तेमाल करना हो तब इन पर गर्म पानी डालें। इसके बाद किचन टॉवेल पर सुखा लें।
  10. चावल में एक टी स्पून तेल और कुछ बूंदे नींबू के रस की मिलाने से वह पकने के बाद खिलाखिला रहेगा।
  11. यदि आप रात को छोला या राजमा भिगोना भूल गए हो तो उबलते पानी में चना या राजमा को भिगोए। इसे आप एक घंटे के बाद पका सकती हैं।
  12. सख्त नींबू को अगर गरम पानी में कुछ देर के लिए रख दिया जाये तो उसमें से आसानी से अधिक रस निकाला जा सकता है।
  13. महीने में एक बार मिक्सर और ग्राइंडर में नमक डालकर चला दिया जाये तो उसके ब्लेड तेज हो जाते हैं।
  14. नूडल्स उबालने के बाद अगर उसमें ठंडा पानी डाल दिया जाये तो वह आपस में चिपकेंगे नही।
  15. पनीर को ब्लोटिंग पेपर में लपेटकर फ्रिज में रखने से यह अधिक देर तक ताजा रहेगा।
  16. मेथी की कड़वाहट हटाने के लिये थोड़ा सा नमक डालकर उसे थोड़ी देर के लिये अलग रख दें।
  17. एक टीस्पून शक्कर को भूरा होने तक गरम करे। केक के मिश्रण में इस शक्कर को मिला दे। ऐसा करने पर केक का रंग अच्छा आयेगा।
  18. फूलगोभी पकाने पर उसका रंग चला जाता है। ऐसा न हो इसके लिए फूलगोभी की सब्जी में एक टीस्पून दूध अथवा सिरका डाले। आप देखेगी कि फूलगोभी का वास्तविक रंग बरकरार है।
  19. आलू के पराठे बनाते समय आलू के मिश्रण में थोड़ी सी कसूरी मेथी डालना न भूले। पराठे इतने स्वादिष्ट होंगे कि हर कोई ज्यादा खाना चाहेगा।
  20. आटा गूंधते समय पानी के साथ थोड़ा सा दूध मिलाये। इससे रोटी और पराठे का स्वाद बदल जाएगा।
  21. दाल पकाते समय एक चुटकी पिसी हल्दी और मूंगफली के तेल की कुछ बूंदे डाले। इससे दाल जल्दी पक जायेगी और उसका स्वाद भी बेहतर होगा।
  22. बादाम को अगर 15-20 मिनट के लिए गरम पानी में भिगो दें तो उसका छिलका आसानी से उतर जायेगा।
  23. चीनी के डिब्बे में 5-6 लौंग डाल दी जाये तो उसमें चींटिया नही आयेगी।
  24. बिस्कुट के डिब्बे में नीचे ब्लोटिंग पेपर बिछाकर अगर बिस्कुट रखे जाये तो वह जल्दी खराब नही होंगे।
  25. कटे हुए सेब पर नींबू का रस लगाने से सेब काला नही पड़ेगा।
  26. जली हुए त्वचा पर मैश किया हुआ केला लगाने से ठंडक मिलती है।
  27. मिर्च के डिब्बे में थोड़ी सी हींग डालने से मिर्च लम्बे समय तक खराब नही होती।
  28. किचन के कोनो में बोरिक पाउडर छिड़कने से कॉकरोच नही आयेंगे।
  29. लहसुन के छिलके को हल्का सा गरम करने से वो आसानी से उतर जाते हैं।
  30. हरी मिर्च के डंठल को तोड़कर मिर्च को अगर फ्रिज में रखा जाये तो मिर्च जल्दी खराब नही होती।
  31. हरी मटर को अधिक समय तक ताजा रखने के लिए प्लास्टिक की थैली में डालकर फ्रिजर में रख दें।
  32. घर में अगर कटा प्याज रखें, तो वो आसपास के वातावरण में मौजूद सभी बैक्टेरिया सोख लेता है। अगर प्याज को खाया जाए, तो पेट के भी सभी कीड़े मर जाते हैं।
  33. खीर बनाते समय जब चावल पक जाए तो चुटकीभर नमक डालें। चीनी कम लगेगी व स्वादिष्ट खीर लगेगी। 
  34. टमाटर पर तेल लगाकर सेंकें इससे छिल्का आसानी से उतर जाएगा। भजिया-पकोड़ा, आलू बड़ा सर्व करते समय चाट मसाला छिड़कें व तली हरी मिर्च के साथ सर्व करें। मजा दोगुना हो जाएगा। 
  35. पराठे बनाते समय आटे में एक उबला छिला पिसा आलू व एक टी स्पून अजवाइन डालें। 
  36. पराठे मक्खन से सेंकें, कुरकुरे व स्वादिष्ट पराठे बनेंगे। अंकुरित अनाज को फ्रिज में रखने से पहले अनाज में 1 टी स्पून नींबू रस मिला लें तो अनाज में गंध नहीं आएगी।
  37. सबसे पहले तो आप अपने रसोई घर में नजर दौड़ा कर देखें की वहॉं कोई सामान बेवजह तो नहीं पड़ा है। अमूमन घरों में बेकार हो चुके या काम में न आने वाले टोस्ट, अवन आदि को भी रसोई से हटाया नहीं जाता, तो उसी सामान को रसोई में रखे जो ठीक हो और जिनकी जरूरत हो।
  38. अगर फ्रिज रसोई में ही रखा है तो उसे डाइनिंग टेबल के पास लगावा दें। 
  39. मिक्सर, ग्राइंडर को रसोई में एक कोने में साफ जगह पर रखें जहॉं से स्विच बोर्ड पास हो और पानी की छिंटे न पहुँचे। छोटी अलमारी में भी रख सकती है ताकि जरूरत पड़ने पर ही निकाल सकें।
  40. इसके अलावा रोजाना काम में आने वाली चीजों को बाहर ही रखें। बाकी कम काम में आने वाला सामान, आप रसोई की अलमारियों और दराजों में रख सकती हैं।
  41. कप, बर्तन आदि को रखने के लिए स्टील का रैक आदि का प्रयोग बेहतर रहता है। संभव हो तो इसे दीवार पर अटैच करवा दें, इससे रसोई घर में ज्यादा जगह बचेगी।
  42. दहीबड़े बनाते समय हर बार हाथ में पानी लगाएँ, इससे पीठी चिपकती नहीं है और दहीबड़ा आसानी से तेल में सरक जाता है।
  43. कढ़ी में जब तक उबाल न आ जाए तब तक उसे बराबर चलाएँ। न चलाने पर कढ़ी उबलकर बर्तन से बाहर निकल जाती है। एक- दो उबाल आने के बाद धीमी आँच पर पकने के लिए छोड़ी जा सकती है।
  44. पकौड़ियॉं बनाते समय घोल में जरा-सा गरम तेल अवश्य डाल लें। साथ ही घोल को अच्छी तरह फेंट लें।
  45. अरबी के पत्तों के पतोड़ बनाने के लिए पत्तों को बेलन से बेल कर समतल कर लें, फिर मसाला लगाएँ। इससे फोल्ड करने में पत्ता फटता नहीं है।
  46. बाजरे व मक्के की रोटी को पॉलीथिन के अंदर रखकर बेलने से यह अच्छी बनती है।
  47. खीर में जरा-सा कॉर्नफ्लोर मिला देने से खीर जल्दी गाढ़ी हो जाती है।
  48. रायते में हींग-जीरे का छौंक लगाएँ, स्वाद और बढ़ जाएगा। 
  49. जब बनाए कचोरी : कचोरी कभी भी चकले बेलन से न बेलें, इन्हें हथेली से दबाकरही बनाएँ। 
  50. बालूशाही बनाने के लिए गोले को हथेली के ऊपरी उठे हिस्से से दबाकर बीच में हल्का-सा दबाव देकर तलें।
  51. रोटी को पलेथन लगाकर ऐसा बेलें कि रोटी चकले पर अपने आप घूमकर गोल बने। ऐसी बनी रोटी पूरी फूलती है।
  52. पराठों को परतदार बनाने के लिए गोल रोटी के ऊपर तेल लगाकर सूखा आटा बुरकें, हर मोड़ पर ऐसे करें।
  53. पूड़ी बेलते समय आटे का पलेथन न लगाकर जरा-सा घी या तेल चकले पर लगाकर बेलें। पलेथन लगी पूड़ी तलने पर तलने वाला घी या तेल में कालापन आ जाता है, जिससे तली पूड़ी देखने में सुंदर नहीं लगती।
  54. पत्ता गोभी के पूरी तरह से बनने के बाद उसमें मूँगफली के दानों को सेंककर मिला दें तो आप पाएँगी कि पत्ता गोभी का स्वाद जरा बढ़िया है।
  55. साबूदाने की टिकिया बनाते वक्त उसमें ब्रेड़ के दो बड़े-बड़े स्लाइस पानी में भिगोकर पानी को हथेलियों से दबाकर निकाल दें व पेस्ट में मिला दें तो टिकिया बिखरेगी नहीं व टिकिया का स्वाद जरा अलग होगा।
  56. गुलाब जामुन की चाशनी को ठंडी होने के बाद उस चाशनी में 6-7 बूँद केवड़ा एसेंस मिला दें व फिर चाशनी में गुलाब जामुन डालें।
  57. पूरी का आटा गूँथते वक्त उस आटे में मोयन के अलावा 2 बड़े आलू उबालकर आटे में अच्छी तरह से मिला दें। इससे पूरी तो मुलायम बनेगी ही और तेल भी कम लगेगा व साथ ही पूरी का स्वाद जरा...।
  58. भिंडी अधिक समय तक ताजा रखने के लिए उस पर हल्का सा सरसों का तेल लगा दें।
  59. जब बनानी हो खीर...खीर बनाने के लिए चावल धोकर थोड़ी देर के लिए कपड़े पर फैलाएँ। बाद में थोड़े से घी में भूनकर मिक्सी में दरदरा पीस लें और एयरटाइट डिब्बे में भर दें। आवश्यकतानुसार खीर बनाते समय उपयोग में लाएँ। ये तीन माह तक खराब नहीं होते।
  60. सूजी को गुलाबी भूनकर वेट जार में रखें। हलवा या उपमा झटपट बनेगा।
  61. चॉंदी के बर्तनों पर पड़े धब्बों को मिटाने के लिए उनको आलू के साथ उबालें। या इमली के पानी में थोड़ी देर भिगोने के बाद धो लें। दाग-धब्बों से छुटकारा मिल जाएगा।
  62. खीर बनाने के लिए चावल धोकर थोड़ी देर के लिए कपड़े पर फैलाएँ। बाद में थोड़े से घी में भूनकर मिक्सी में दरदरा पीस लें और एयरटाइट डिब्बे में भर दें। आवश्यकतानुसार खीर बनाते समय उपयोग में लाएँ। ये तीन माह तक खराब नहीं होते।

    लेखक राजेश मिश्रा स्वाद का आनंद लेते हुए.. 

  63. रसीले पफ बनाने के लिए पफ (कच्चे) काटकर डिब्बे में भरकर फ्रीज में रखें। जरूरत पड़ने पर बेलकर, तलकर, चाशनी में डालें। कच्चे पफ आठ दिनों तक खराब नहीं होंगे।
  64. हरे टमाटरों को ब्राउन पेपर अथवा अखबार में लपेटकर स्टोर में रखें, वे जल्दी पक जाएँगे।
  65. केसरिया भात का मेनू यदि रात के खाने में है तो सादे चावल सुबह पकाकर रख लें। रात को पिसी शक्कर मिलाकर चावल गर्म करें। केसरिया भात जल्दी बनेगा।

Seasonal Foods