दादी-नानी और पिता-दादाजी के बातों का अनुसरण, संयम बरतते हुए समय के घेरे में रहकर जरा सा सावधानी बरतें तो कभी आपके घर में डॉ. नहीं आएगा. यहाँ पर दिए गए सभी नुस्खे और घरेलु उपचार कारगर और सिद्ध हैं... इसे अपनाकर अपने परिवार को निरोगी और सुखी बनायें.. रसोई घर के सब्जियों और फलों से उपचार एवं निखार पा सकते हैं. उसी की यहाँ जानकारी दी गई है. इस साइट में दिए गए कोई भी आलेख व्यावसायिक उद्देश्य से नहीं है. किसी भी दवा और नुस्खे को आजमाने से पहले एक बार नजदीकी डॉक्टर से परामर्श जरूर ले लें.
पुरे वर्ष सन् 2017 के पर्व त्यौहार निचे मौजूद है...

लेबल

आप यहाँ आये हमें अच्छा लगा... आपका स्वागत है

नोट : यहाँ पर प्रस्तुत आलेखों में स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी को संकलित करके पाठकों के समक्ष प्रस्तुत करने का छोटा सा प्रयास किया गया है। पाठकों से अनुरोध है कि इनमें बताई गयी दवाओं/तरीकों का प्रयोग करने से पूर्व किसी योग्य चिकित्सक से सलाह लेना उचित होगा।-राजेश मिश्रा

स्वास्थ लाभ के साथी, इस वेबसाइट से जुड़ें : राज

मंगलवार, अप्रैल 14, 2015

कोलेस्ट्रोल कम ऐसे करें

कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने वाले फूड
कोलेस्ट्रोल, एक ऐसी समस्या है जो अब आम बनती जा रही है। कोलेस्ट्रोल कम करने का अर्थ है हृदय रोग का सही उपचार। हर साल लगभग एक करोड़ लोगों की मृत्यु ह्रदय रोगों से होती है। इस बेहिसाब मृत्युदर की वजह है शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा का सामान्य से बहुत अधिक होना। आज की थकाऊ जीवनशैली एक तो कसरत करने का समय नहीं है वहीं दूसरी और जंक फ़ूड की बहुलता है, उस पर से अनियमित निद्रा समस्या को और गंभीर कर देती है। इस मेगा-गाइड में, हम आपको वह सब कुछ बताएंगे जिसे आजमाकर आप अपने कोलेस्ट्रोल लेवल को नियंत्रित रख सकते हैं और परिणामस्वरूप ह्रदय रोगों को दूर रख सकते हैं।
सबसे पहले केलोस्ट्रोल और सैच्युरेटेड चिकनाई से भरपूर खाद्द पदार्थ को कम से कम कर देना चाहिए| अंडे, मांस और पनीर में केलोस्ट्रोल अधिक होता है, मक्खन, सूअर का मांस, गाय का मांस, सम्पूर्ण चिकनाई वाला पदार्थ और जानवरों से प्राप्त होने वाले सभी खाद्द पदार्थ तथा नारियल के तेल इन सबमे सैच्युरेटेड फेट बहुत अधिक होता है| इनकी जगह सोयाबीन और सरसों के तेल जैसे पॉली अन्सैच्युरेटेड चिकनाई वाले खाद पदार्थ भोजन में शामिल किये जाने चाहिए इनके अलावा मूंगफली का तेल और जैतून के तेल में भी अन्सेच्युरेटेड चिकनाई होती है जो कि एल डी एल कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम करती है|
कोलेस्ट्रोल को कम करने के कुछ घरेलू उपचार यहाँ दिए जा रहे हैं-
  • कच्ची लहसुन रोज सुबह खाली पेट खाने से कोलेस्ट्रोल कम होता है।
  • रोज 50 ग्राम कच्चा ग्वारपाठा खाली पेट खाने से खून में कोलेस्ट्रोल कम हो जाता है।
  • अंकुरित दालें भी खानी आरंभ करें।
  • सोयाबीन का तेल अवश्य प्रयोग करें यह भी उपचार है।
  • लहसुन, प्याज, इसके रस उपयोगी हैं।
  • नींबू, आंवला जैसे भी ठीक लगे, प्रतिदिन लें।
  • शराब या कोई नशा मत करें, बचें।
  • इसबगोल के बीजों का तेल आधा चम्मच दिन में दो बार।
  • दूध पीते हैं तो उसमे जरा सी दालचीनी) डाल दो, कोलेस्ट्रोल कण्ट्रोल होगा।
  • रात के समय धनिया के दो चम्मच एक गिलास पानी में भिगो दें। प्रात: हिलाकर पानी पी लें। धनिया भी चबाकर निगल जाएं।
  • भोजन में रेशेदार पदार्थ शामिल करने से भी एलडीएल कोलेस्ट्रोल का स्तर कम होता है इसलिए रेशे से भरपूर पदार्थ भोजन में शामिल किये जाने चाहिए|
  • लेसिथिन एक चिकनाई वाला पदार्थ होता है| इसके सेवन से एलडीएल कोलेस्ट्रोल का स्तर कम होता है| वानस्पतिक तेल, अनाज और सोयाबीन तथा unpasteurized दूध लेसिथिन के अच्छे स्त्रौत हैं|
  • लहसुन भी कोलेस्ट्रोल को कम करने में मदद करता है।
  • जिन लोगों के रक्त में केलोस्ट्रोल कि मात्रा अधिक होती है उन्हें प्रतिदिन कम से कम 8 -10 गिलास पानी अवश्य पीना चाहिए|
  • ग्रीन टी भी कोलेस्ट्रोल को कम करती है इसलिए हमें दूध की चाय के बजाय ग्रीन टी पीनी चाहिए।
  • पानी में धनिया के सूखे बीज उबालकर प्रतिदिन पीने से भी रक्त में केलोस्ट्रोल कि मात्रा कम होती है|
  • रोजाना व्यायाम करने से भी केलोस्ट्रोल कम होता है|

Seasonal Foods