दादी-नानी और पिता-दादाजी के बातों का अनुसरण, संयम बरतते हुए समय के घेरे में रहकर जरा सा सावधानी बरतें तो कभी आपके घर में डॉ. नहीं आएगा. यहाँ पर दिए गए सभी नुस्खे और घरेलु उपचार कारगर और सिद्ध हैं... इसे अपनाकर अपने परिवार को निरोगी और सुखी बनायें.. रसोई घर के सब्जियों और फलों से उपचार एवं निखार पा सकते हैं. उसी की यहाँ जानकारी दी गई है. इस साइट में दिए गए कोई भी आलेख व्यावसायिक उद्देश्य से नहीं है. किसी भी दवा और नुस्खे को आजमाने से पहले एक बार नजदीकी डॉक्टर से परामर्श जरूर ले लें.
पुरे वर्ष सन् 2017 के पर्व त्यौहार निचे मौजूद है...

लेबल

आप यहाँ आये हमें अच्छा लगा... आपका स्वागत है

नोट : यहाँ पर प्रस्तुत आलेखों में स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी को संकलित करके पाठकों के समक्ष प्रस्तुत करने का छोटा सा प्रयास किया गया है। पाठकों से अनुरोध है कि इनमें बताई गयी दवाओं/तरीकों का प्रयोग करने से पूर्व किसी योग्य चिकित्सक से सलाह लेना उचित होगा।-राजेश मिश्रा

स्वास्थ लाभ के साथी, इस वेबसाइट से जुड़ें : राज

बुधवार, फ़रवरी 25, 2015

मांस पेशियों में दर्द का घरेलू उपचार

Raj's Simple 11 Home Remedies for Muscle Pain


मांसपेशियों में दर्द किसी चोट या दुर्घटना, मांसपेशियों के अत्याधिक उपयोग या मांस पेशियों में तनाव, तनाव या चिंता या कुछ मेडिकल परिस्थितियों के कारण हो सकता है। मांसपेशियों के दर्द को प्राकृतिक तरीके से दूर करने के लिए कुछ प्रभावी घरेलू उपचार उपलब्ध है।
कभी कभी बहुत अधिक व्यायाम करने से भी मांसपेशियों में दर्द हो जाता है। इस स्थिति में हमारे शरीर को अधिक ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है। इस अधिक ऑक्सीजन की आवश्यकता की पूर्ति करने के लिए मांसपेशियों में अवायुश्वसन होता है जिसके कारण लेक्टिक एसिड एकत्रित होने लगता है। इस लेक्टिक एसिड के कारण मांसपेशियों में थकान और दर्द होता है।
सामान्यत: लेक्टिक एसिड विभाजित हो जाता है और मांसपेशियों का दर्द चला जाता है परन्तु इसमें कुछ दिन का समय लगता है। सौभाग्य से मांसपेशियों के दर्द को दूर करने के लिए हमारे पास कुछ घरेलू उपचार उपलब्ध है। कसरत करने के बाद मांसपेशियों के दर्द को कैसे दूर किया जाए तथा मांसपेशियों के दर्द को ठीक करने के लिए क्या अच्छा है? आज बोल्डस्काय आपको मांसपेशियों के किसी भी प्रकार के दर्द को दूर करने के लिए कुछ घरेलू उपचार बताएगा।

1) तेल से मालिश

मालिश से मांसपेशियों में रक्त परिसंचरण बढ़ता है जिससे मांसपेशियों को गर्मी मिलती है तथा यह लेक्टिक एसिड को दूर करता है जबकि तेल मांसपेशियों को आराम पहुंचाता है और दर्द से राहत दिलाता है। विभिन्न प्रकार के तेल जैसे पाइन, लैवेंडर, अदरक और पिपरमेंट का तेल मांस पेशियों के दर्द को कम करने में सहायक होते हैं।

2) मैग्नीशियम सल्फेट से स्नान

मैग्नीशियम सल्फेट प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला खनिज है जो मांसपेशियों के ऊतकों की सूजन को कम करता है तथा मांसपेशियों के दर्द से आराम पहुंचाता है। यह पुरानी स्थिति जैसे फाईब्रोम्यल्गिया में भी मांसपेशियों के दर्द से आराम दिलाता है। नहाने के लिए मानक आकार के टब को गुनगुने या गर्म पानी से भरें तथा इसमें 1-2 कप ऐप्सम सॉल्ट मिलाएं तथा इस पानी में 15-30 मिनिट आराम करें। इस स्नान से मांसपेशियों के दर्द और ऐंठन से आराम मिलता है, शरीर को आराम मिलता है और तनाव कम होता है। इस प्रकार व्यायाम करने के बाद मांसपेशियों के दर्द को दूर किया जा सकता है।

3) कोल्ड थेरपी

मांसपेशियों के दर्द को दूर करने के लिए यह एक उत्तम घरेलू उपचार है। कोल्ड थेरपी को क्रयोथेरेपी भी कहा जाता है जिसमें राहत पाने के लिए चोट की जगह पर आइस (बर्फ़) लगाया जाता है। अक्सर इसका उपयोग खेलकूद के कारण होने वाले लगने वाली चोटों में मांसपेशियों के दर्द को कम करने के लिए किया जाता है। चोट लगे हए स्थान पर बर्फ़ लगाने से उस स्थान पर रक्त परिसंचरण धीमा हो जाता है जिसके परिणामस्वरूप उस स्थान पर दर्द और सूजन कम हो जाती है।

4) हीट थेरपी

हीट थेरपी का उपयोग मोच या ऐंठन, मांसपेशियों में जकड़न या ऐंठन के उपचार में किया जाता है। अच्छा होगा कि गंभीर चोटों में हीट थेरपी का उपयोग न किया जाए क्योंकि इसके कारण सूजन बढ़ सकती है और असुविधा हो सकती है। गर्मी से मांसपेशियों के दर्द में आराम मिलता है, मांसपेशियों की जकड़न कम होती है और मांसपेशियों का तनाव कम होता है। गर्मी प्रभावित स्थान पर रक्त परिसंचरण बढ़ाती है से चोट लगे हुए स्थान पर रक्त परिसंचरण बढ़ जाता है जिससे मांसपेशियों की चोट से भी आराम मिलता है।

5) गर्म और ठंडा स्नान

बारी बारी गर्म और ठंडे पानी से स्नान करने से दर्द से तेज़ी से आराम मिलता है। इससे प्रभावित स्थान का रक्त परिसंचरण बढ़ता है, सूजन और दर्द कम कम होता है। ठंडा स्नान दर्द वाले स्नान को सुन्न कर देता है तथा गर्म स्नान मांसपेशियों को आराम देता है, ऐंठन को दूर करता है तथा सम्पूर्ण शरीर के तनाव को कम करता है। पानी में सुगंध वाले तेल जैसे लैवेंडर, यूकेलिप्टस और बरगामोट मिलाने से अतिरिक्त लाभ होता है।

6) जडी बूटियाँ और लेप

कुछ जडी बूटियों में एंटी इम्फ्लेमेट्री (प्रदाहनाशी) और आरामदायक गुण होते हैं। जबकि हर्बल लेप (जडी बूटियों के अर्क का अर्द्ध ठोस रूप जो लोशन, जेल या बामके रूप में होता है) त्वचा तथा ऊतकों में अंदर तक प्रवेश करते हैं तथा आराम पहुंचाते हैं।

7) एक्युप्रेशर

एक्युप्रेशर एक वैज्ञानिक पद्धति है जिसमें आराम पहुंचाने के लिए शरीर के विभिन्न एक्युप्रेशर पॉइंट्स पर प्रेशर (दबाव) देकर उन्हें उत्तेजित किया जाता है। यह मांसपेशियों को आराम पहुंचाने तथा उन्हें ठीक करने में सहायक होता है। मांसपेशियों को आराम देकर और बढ़े हुए एंड्रोफिन्स से मांसपेशियों के दर्द से तीव्र और प्राकृतिक तरीके से आराम पाया जा सकता है।

8) मैगनीशियम

शरीर में मैगनीशियम का स्तर कम होने पर मांसपेशियों में दर्द और ऐंठन की समस्या हो सकती है। मैगनीशियम का संपूरक लें। आप अपने आहार में ऐसे खाद्य पदार्थ शामिल कर सकते हैं जिनमें मैगनीशियम प्रचुर मात्रा में हो। मैगनीशियम से समृद्ध खाद्य पदार्थों में गुड़, कुम्हड़ा और कद्दू के बीज, पालक, रसपालक, कोका पाउडर, ब्लैक बीन्स, अलसी के बीज, तिल के बीज, सूरजमुखी के बीज, बादाम और काजू शामिल हैं।

9) ऐप्पल सीडर विनेगर

मांसपेशियों के दर्द से कैसे आराम पाया जाए? मांसपेशियों के दर्द से छुटकारा पाने के लिए एसीवी एक प्रभावी घरेलू औषधि है। एक गिलास पानी में एक या दो चम्मच ऐप्पल सीडर विनेगर मिलकर पीयें। जिस स्थान पर दर्द हो रहा है उस स्थान पर आप विनेगर लगा भी सकते हैं। इससे आपको मांसपेशियों के दर्द से आराम मिलेगा।

10) लाल मिर्च

इसमें कैप्सैसिन पाया जाता है जो ऑर्थराइटिस, जोड़ों और मांसपेशियों के दर्द और मांसपेशियों के सामान्य दर्द से राहत पहुंचाता है। आप स्वयं पेस्ट बना सकते हैं। इसके लिए एक चौथाई या आधा टेबल स्पून लाल मिर्च को जैतून के तेल (गर्म) या नारियल के तेल में मिलाएं। इसे प्रभावित स्थान पर लगायें तथा लगाने के बाद अपने हाथ धो डालें। इसे अपनी नाक, आँखों और मुंह से दूर रखें क्योंकि इससे जलन हो सकती है।

11) चेरी का रस

चेरी का रस दौड़ने या बहुत अधिक व्यायाम करने के बाद मांसपेशियों में होने वाले दर्द को दूर करने में सहायक होता है। चेरी में एंथोक्यनिंस नामक एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है जो जलन को कम करता है। दर्द और जलन को कम करने के लिए चेरी का खट्टा रस पीयें। इससे पैरों और हाथ की मांसपेशियों में होने वाले दर्द से आराम मिलेगा।

Seasonal Foods