दादी-नानी और पिता-दादाजी के बातों का अनुसरण, संयम बरतते हुए समय के घेरे में रहकर जरा सा सावधानी बरतें तो कभी आपके घर में डॉ. नहीं आएगा. यहाँ पर दिए गए सभी नुस्खे और घरेलु उपचार कारगर और सिद्ध हैं... इसे अपनाकर अपने परिवार को निरोगी और सुखी बनायें.. रसोई घर के सब्जियों और फलों से उपचार एवं निखार पा सकते हैं. उसी की यहाँ जानकारी दी गई है. इस साइट में दिए गए कोई भी आलेख व्यावसायिक उद्देश्य से नहीं है. किसी भी दवा और नुस्खे को आजमाने से पहले एक बार नजदीकी डॉक्टर से परामर्श जरूर ले लें.
पुरे वर्ष सन् 2017 के पर्व त्यौहार निचे मौजूद है...

लेबल

आप यहाँ आये हमें अच्छा लगा... आपका स्वागत है

नोट : यहाँ पर प्रस्तुत आलेखों में स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी को संकलित करके पाठकों के समक्ष प्रस्तुत करने का छोटा सा प्रयास किया गया है। पाठकों से अनुरोध है कि इनमें बताई गयी दवाओं/तरीकों का प्रयोग करने से पूर्व किसी योग्य चिकित्सक से सलाह लेना उचित होगा।-राजेश मिश्रा

स्वास्थ लाभ के साथी, इस वेबसाइट से जुड़ें : राज

रविवार, फ़रवरी 01, 2015

Eyes Dark Circles Relief

आंखों के नीचे डार्क सर्कल से राहत पाने के आसान तरीके

आंखों के नीचे काले घेरे होने की समस्या चेहरे के नूर को पूरी तरह से नष्ट कर देती है. चेहरा बीमार-सा नजर आने लगता है. यदि आप भी इस समस्या की शिकार हैं, तो कुछ आसान उपायों को अपना कर अपनी खोई हुई खूबसूरती वापस पा सकती हैं..
महिलाओं को शिकायत रहती है कि ज्यादा दिनों तक अच्छी नींद लेने के बावजूद आंखों के नीचे डार्क सर्कल और आई बैग्स की परेशानी है। ये जानना जरूरी है कि इसका कारण सिर्फ नींद नहीं है। इसके कई कारण हैं और जनरल ट्रीटमेंट प्रोग्राम से इन्हें सुधारा जा सकता है। जैसे कई लोगों की डार्क सर्कल में फैमिली हिस्ट्री होती है। इसे सही तरह से मैनेज किया जाए तो समस्या से राहत मिल सकती है। कई बार लाइफस्टाइल बीमारियां जैसे ज्यादा वजन होना, डायबिटीज़ और थायरॉइड से आंखों के इर्द-गिर्द पिगमेंटेशन हो सकती है। कई बार कुछ कॉस्मेट्रिक्स के कारण आंखों के नीचे रेडनेस, पफ आदि हो सकते हैं। क्योंकि आंखों की त्वचा ज्यादा सेंसेटिव और पतली होती है। कई बार क्रोनिक बीमारियों के कारण भी आंखों के नीचे वाली जगह में रेडनेस और सूजन जाती है। इस सभी परेशानियों से आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है।
  • सबसे पहले चेहरे पर सीटाफिल लोशन, विची या क्लीनिक्यू फेसवॉश लगाएं। इनसे किसी तरह के रिएक्शन होने की संभावना कम से कम हो जाएगी।
  • आंखों पर कम से कम आई-मेकअप जैसे लाइनर या मस्कारा लगाएं। लगाना ही है तो इसे किसी अच्छी कंपनी के मेकअप-रिमूवर से ही उतारें।
  • कई बार आंखों को ज्यादा मलने या रगड़ने से भी पफनेस या सूजन सकती है। ये ध्यान में रखना जरूरी है कि बाकी चेहरे की तुलना में आंखों के नीचे का एरिया ज्यादा सेंसेटिव होता है। आंखों के नीचे ज्यादा जलन हो रही है तो आंखों को मलने की बजाय खुले पानी से धो लें।
  • रात को सोने से पहले आंखों के चारों और बादाम के तेल की मालिश करें. इससे काले घेरे तो दूर होंगे, साथ ही झुर्रियों की समस्या से भी राहत मिलेगी. 

  • सुबह उठने के बाद मुंह में पानी भर के ठंडे पानी से 30 से 40 बार आंखों में छींटे मारें. इससे आंखों को ठंडक भी मिलेगी और साथ ही आंखों की रोशनी भी बढ़ेगी.
  • आंखों के पास काले घेरे होने का मुख्य कारण कब्ज होता है. अत: कब्ज से छुटकारा पाने के लिए पपीता, पालक जैसी चीजों का सेवन करें. पेट ठीक रहेगा तो आंखों के नीचे काले घेरे भी नजर नहीं आयेंगे.
  • गुनगुने पानी के साथ त्रिफला चूर्ण लेने से काले घेरों की समस्या में राहत मिलती है.
  • कच्चे दूध में जौ का आटा व चुटकी भर हल्दी मिला कर गाढ़ा घोल बना लें और इसे आंखों के नीचे लगाएं. सूखने पर धीरे-धीरे रगड़ कर छुड़ा दें. फिर ठंडे पानी से आंखें धो लें. नियमित रूप से ऐसा करने से काले घेरों से छुटकारा मिल जायेगा.
  • काले घेरों की समस्या को कम करने के लिए आप कुकुंबर थैरेपी का इस्तेमाल कर सकती हैं. खीरे के टुकड़े को आंखों के ऊपर रखें. कुछ देर तक आंख बंद रखने के बाद डार्कएरिया पर इसे हल्के-हल्के से घुमाएं. इससे आंखों के आस-पास की सूजन कम होगी, साथ ही कालापन भी घटेगा.
  • डार्क सर्कल्स पर इस्तेमाल किये हुए टी-बैग्स का इस्तेमाल भी किया जा सकता है. टी-बैग्स में मौजूद तत्व टैनिन आंखों के आसपास की सूजन और कालेपन को कम करता है.
  • भीगी हुई अरहर की दाल का पेस्ट बना लें और इसमें दही व चुटकी भर हल्दी मिला कर काले घेरों पर लगाएं. कुछ ही दिन में लाभ मिलेगा.
  • अच्छे स्वास्थ्य के लिए संतुलित व पौष्टिक भोजन लें और मौसमी फलों का सेवन अवश्य करें. आप स्वस्थ रहेंगी तो त्वचा संबंधी कोई भी समस्या होने की अशंका कम हो जायेगी.
  • 50 ग्राम तुलसी के पत्ते, नीम के पत्ते और पुदीने के पत्ताें को गुलाबजल में मिला कर पीस लें. इसमें थोड़ा-सा हल्दी पाउडर मिक्स करें और इस पेस्ट को काले घेरों पर लगाएं. ऐसा करने से डार्क सर्कल की समस्या काफी हद तक कम हो जायेगी.
  • संतरे या गाजर का रस निकालें और रूई को उसमें भिगो कर कुछ देर तक आंखों पर रखें. इससे डार्क सर्कल में काफी हद तक फायदा पहुंचेगा.

Seasonal Foods